Home Bhopal दादा के दांव में दबे कमलनाथ…गया नेता प्रतिपक्ष का पद

दादा के दांव में दबे कमलनाथ…गया नेता प्रतिपक्ष का पद

35
0

डॉ. नरोत्तम की मांग पर कांग्रेस ने गोविंद सिंह को बनाया नेता प्रतिपक्ष

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी में सरकार के संकट मोचक कहे जाने वाले कद्दावर नेता व गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा जिनको उनके समर्थक एवं चाहने वाले दादा भी कहते है के दाँव में आखिर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ न केवल फँस गए बल्कि दबकर पूरा दम ही निकल गया और अंततः नेता प्रतिपक्ष का पद उनको छोड़ना पड़ा।  कांग्रेस हाई कमान ने संसदीय कार्य मंत्री डॉ. मिश्रा की मांग को गंभीरता से लिया और उनके अभिन्न मित्र गोविंद सिंह को नेता प्रतिपक्ष बना दिया , जिसकी मांग डॉ. नरोत्तम  मिश्रा लगातार कभी बयान देकर तो कभी पत्र लिखकर कर रहे थे।

मार्च  में बजट सत्र शुरू होने से पहले गृह एवं संसदीय कार्यमंत्री डॉ. मिश्रा ने नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ द्वारा विधानसभा की कार्यवाही से गायब रहने का मुद्दा प्रखरता से उठाते हुए कमलनाथ जी से पद छोड़ने व गोविंद सिंह को नेता प्रतिपक्ष बनाने की मांग की थी। डॉ. मिश्रा के बयान के बाद  कांग्रेस में हलचल मच गई।गोविंद सिंह ने भी नेता प्रतिपक्ष बनने की इच्छा जाहिर कर कांग्रेस में माहौल गरमा दिया था। उसके बाद कई मौकों पर डॉ.मिश्रा ने कमलनाथ के नेतृत्व में विपक्ष के बिखराव व भूमिका को लेकर कई बयान दिए। सभी मे उन्होंने कांग्रेस के सबसे सीनियर विधायक गोविंद सिंह को नेता प्रतिपक्ष बनाने की मांग की। धीरे धीरे कांग्रेस के भीतर ही कमलनाथ को नेता प्रतिपक्ष  छोड़ने के लिए दबाव बन गया। कांग्रेस हाईकमान को भी कमलनाथ जी को नेता प्रतिपक्ष या प्रदेश अध्यक्ष में से एक पद चुनने को कहना पड़ा। आखिर कमलनाथ को नेता प्रतिपक्ष पद छोड़ना पड़ा। हाई कमान ने उन्ही गोविंद सिंह को नेता प्रतिपक्ष बनाया जिनको बनाने की पैरवी  डॉ. नरोत्तम मिश्रा खुलेआम कर रहे थे।

कमलनाथ  दो साल से भी अधिक समय से कांग्रेस के अध्यक्ष पद और नेता प्रतिपक्ष पद पर काबिज थे। उनका दोनों पदों को छोड़ने का इरादा भी नही था।लेकिन वह डॉ. नरोत्तम मिश्रा के दाँव में ऐसे फॅसे कि उन्हें न केवल नेता प्रतिपक्ष पद छोड़ना पड़ा बल्कि नरोत्तम जी के अभिन्न मित्र  गोविंद सिंह  को ही नेता प्रतिपक्ष बनाने का समर्थन भी करना पड़ा।

 

डॉ मिश्रा ने गोविंद सिंह को दी बधाई

गृह एवम संसदीय कार्य मंत्री डॉ.  मिश्रा ने मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष मनोनीत किए जाने पर डॉ.गोविंद सिंह जी को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं ।
उन्होंने कहा कि सदन का वरिष्ठ सदस्य होने के नाते आपसे विपक्ष के सकारात्मक नेतृत्व और प्रदेश की जनता से जुड़े विषयों पर रचनात्मक सहयोग की अपेक्षा रहेगी।