Home National कांग्रेस नेता पंकज पुनिया ने किया विवादित ट्वीट… धार्मिक भावनाओं को आहत...

कांग्रेस नेता पंकज पुनिया ने किया विवादित ट्वीट… धार्मिक भावनाओं को आहत करने का लगा आरोप, करनाल में हुए गिरफ्तार

0
0
Congress Leader Pankaj Puniya, File Pic
Highlights:
  • हिंदू समाज की धार्मिक भावना आहत करने के आरोप में गिरफ्तार
  • ट्वीट की भाषा को वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने अमर्यादित और हिन्दुओं की भावना को ठेस पहुंचाने वाला बताया
  • करनाल में पंकज पुनिया के खिलाफ दर्ज कराई गई थी शिकायत

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने और हिंदू समाज की धार्मिक भावना आहत करने के आरोप में कांग्रेस नेता पंकज पुनिया को गिरफ्तार कर लिया गया है. पंकज पुनिया की गिरफ्तारी हरियाणा के करनाल से हुई है. करनाल में पंकज पुनिया के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि पंकज पुनिया ने अपने ट्वीट में धार्मिक भावनाओं और उनके विश्वास को जानबूझ कर अपमानित किया. देश के अन्य शहरों में भी शिकायत दर्ज करवाई गई है.

 

 

इस संबंध में पंकज पुनिया के खिलाफ धारा 153-A, 295-A, 505 (2) और आईटी एक्ट की धारा 67 में मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. इससे पहले वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने पंकज पुनिया की गिरफ्तारी की मांग की थी. अलख आलोक श्रीवास्तव ने पंकज पुनिया के खिलाफ आपराधिक एफआईआर दर्ज कराने के लिए शिकायत दर्ज कराई और कहा कि पंकज पुनिया को तुरंत गिरफ्तार किया जाए. यही नहीं मप्र, महाराष्ट्र, दिल्ली, राजस्थान, उप्र कई लोगों ने शिकायत दर्ज करवाई है.

 

ये विवाद उत्तर प्रदेश में मजदूरों को बसों के जरिए उनके घर तक भेजने और कांग्रेस द्वारा इसके लिए 1000 बसें मुहैया कराने की पेशकश से जुड़ा है. बसों को लेकर यूपी सरकार और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के बीच चिट्ठी का सिलसिला चल रहा है.

 

 

कांग्रेस नेता पंकज पुनिया ने इस मुद्दे पर एक ट्वीट किया था. इस ट्वीट की भाषा को वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने अमर्यादित और हिन्दुओं की भावना को ठेस पहुंचाने वाला बताया. उन्होंने गाजियाबाद के कौशाम्बी थाने में शिकायत देकर पंकज पुनिया के खिलाफ एफआईआर करने और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की.

 

वहीं बीजपी नेता और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय (Ashwini Upadhyay) ने गौतमबुद्धनगर थाने में कांग्रेस नेता के खिलाफ धारा 295A, 500,505 तथा आइटी एक्ट की धारा 66 मेें मुकदमा दर्ज कराया है.

अश्विनी उपाध्याय ने ट्वीट कर लिखा, “हिंदू धर्म, सनातन संस्कृति और गोरक्षपीठ के महंत आदरणीय योगी का अपमान करने, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और करोड़ों स्वयं सेवकों को बदनाम करने तथा भगवान राम के बारे में अभद्र भाषा का प्रयोग करने वाले कांग्रेस नेता पंकज पुनिया के खिलाफ मैंने नोएडा में मुकदमा दर्ज करा दिया है”.

अश्विनी उपाध्याय ने वीडियो जारी कर कहा कि कांग्रेस नेता पंकज पुनिया ने हिंदू धर्म, सनातन संस्कृति, गोरखपीठ के महंत और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बदनाम करने की कोशिश की है. इसके अलावा उन्होंने दुनिया के सबसे बड़े राष्ट्रवादी औऱ सेवा करने वाले संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को अपमानित करने का प्रयास किया है. इतना ही नहीं पुनिया ने हमारे भगवान राम के लिए भी अभद्र टिप्पणी की है. उपाध्याय ने कहा कि कांग्रेस नेताओं की आदत हो गई है कोई भगवा को गाली देता है कोई हिंदू धर्म को गाली देता है, तो कोई साधू-संतों को जेल में डालता है, यही कारण है कि मैने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

 

बाद में दी सफाई

पहले पंकज पुनिया ने एक और ट्वीट किया जिसमें तंज कसते हुए लिखा कि “सारे सपोले परेशान हो गए”

परंतु देखते ही देखते सोशल मीडिया पर एफआइआर के आवेदन की बाढ़ आने लगी और विवाद बढ़ गया तब उन्होंने ट्वीट डिलीट कर अपने ट्वीट पर सफाई दी. उन्होंने एक दूसरे ट्वीट में कहा कि मेरे लिखने से अगर किसी भाई को बुरा लगा हो तो मैं खेद व्यक्त करता हूं. मेरे शब्द गार्गी कालेज में जो हुआ था उसको लेकर थे न कि किसी धर्म को लेकर.