Home Bhopal फैसला ON SPOT:शिकायत के बाद SP ने फोन पर ही प्रधान आरक्षक...

फैसला ON SPOT:शिकायत के बाद SP ने फोन पर ही प्रधान आरक्षक को सस्पेंड किया

339
0
प्रतिकात्मक फोटो

भोपाल/विदिशा:लॉक डाउन में अति आवश्यक सेवाओं में लगे में लोडिंग वाहनों को छूट के बाद भी कई जगह चेकिंग नाकों पर पुलिसकर्मियों द्वारा लोगों को परेशान किया जा रहा है। दरअसल लॉक डाउन के दौरान मालवाहक वाहनों के आवागमन को लेकर आ रही परेशानियों पर सीएम शिवराज सिंह चौहान की सख्ती का असर दिखने लगा है। अधिकारी सीधे फोन कर एक्शन ले रहे हैं। फोन पर ही व्यापारियों और किसानों की समस्या का समाधान किया जा रहा है। विदिशा में एक ऐसे ही मामले में फोन पर ही शिकायत आयी और फोन पर ही एक प्रधान आरक्षक को सस्पेंड कर दिया गया।

ये है पूरा मामला…

प्राप्त जानकारी के अनुसार,विदिशा में एक ऐसा ही मामला सामने आया जहां एक परेशान व्यापारी ने कलेक्टर को फोन लगाया और फिर कलेक्टर के साथ मौजूद एसपी ने फोन पर ही पूरे मामले को समझा और मालवाहक गाड़ी को रोकने के आरोप में एक प्रधान आरक्षक को फोन पर ही सस्पेंड करने के आदेश सुना दिया। हुआ यह कि विदिशा के एक व्यापारी की गाड़ी तरबूज लेने के लिए मंडी जा रही थी। तभी गैरतगंज पर लगे बैरिकेड पर उसकी गाड़ी को रोक लिया गया।व्यापारी की गाड़ी को जब चेक पोस्ट पर रोका गया तो उसने सीधे विदिशा कलेक्टर पंकज जैन को फोन लगाया। उसने बताया कि उसकी गाड़ी को चेक पोस्ट पर रोक दिया गया है। इस पर विदिशा कलेक्टर पंकज जैन ने फोन पर ही प्रधान आरक्षक से बात कराने के लिए कहा। प्रधान आरक्षक जब फोन पर आए तो वह कलेक्टर को गोलमोल जवाब देने लगे। इसके बाद कलेक्टर ने साथ में मौजूद एसपी विनायक वर्मा को फोन पकड़ा दिया। एसपी ने तत्काल प्रभाव से प्रधान आरक्षक को सस्पेंड कर दिया।