Home Itarsi शासकीय एमजीएम पीजी महाविद्यालय प्रांगण में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए...

शासकीय एमजीएम पीजी महाविद्यालय प्रांगण में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर वृक्षारोपण किया गया

247
0

इटारसी । शासकीय महात्मा गांधी स्मृति स्नातकोत्तर महाविद्यालय प्रांगण में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर बड़ी मात्रा में मौलश्री, सप्तपर्णी और शीशम के पौधों का वृक्षारोपण किया गया । मौलश्री एक औषधीय वृक्ष है, इसका सदियों से आयुर्वेद में उपयोग होता आ रहा है।

शीशम वृक्ष के तेल, जड़, छाल, फूल, फली व पत्तों से निकला चिपचिपा पदार्थ कई रोगों के इलाज में लाभकारी है। आज जहां पूरा विश्व वैष्विक उष्मन की समस्या से जूझ रहा है तथा वैष्विक स्तर पर वृक्ष लगाने हेतु आह्वाहन किया जा रहा है क्योंकि एक वृक्ष वर्षभर में 700 किलोग्राम ऑक्सीजन का उत्पादन करता है 20 किलोग्राम कार्बन डाइऑक्साइड का अवशोषण करता है इसी लिए एक वृक्ष की तुलना सौ पुत्रो से की गई।

महाविद्यालय परिसर को हरियाली से भरने, वैश्विक उष्मन को कम करने तथा पर्यावरण संतुलन बनाए रखने के लिए महाविद्यालय में प्रत्येक वर्ष पर्यावरण दिवस पर महाविद्यालय इकोक्लब द्वारा वृक्षारोपण किया जाता हैं। इस वर्ष भी प्रत्येक वर्ष की भांति यह वृक्षारोपण प्राचार्य डॉ राकेश तिवारी के मार्गदर्शन में इकोक्लब के सौजन्य से वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ प्रमोद पगारे, डॉ अरविंद शर्मा, डॉ मुकेश जोठे, डॉ वी के कृष्णन, डॉ कनकराज, दिनेश कुमार, डॉ बस्सा सत्यनारायना, डॉ आशुतोष मालवीय, प्रशांत पाण्डेय, सचिन कुमार, डॉ सन्तोष अहिरवार, मनीष चौरे जी के द्वारा किया गया।

डॉ प्रमोद पगारे ने विस्तृत रूप से विश्व पर्यावरण दिवस के ऊपर प्रकाश डालते हुए वृक्षों के उपयोगिता के बारे में बताया। इसके साथ ही महाविद्यालय के वृक्षमित्र अनिल चौरे, शिवकुमार, दिनेश केवट, नवीन पटेल, तिलकराज चौधरी ने भी एक एक वृक्ष के रोपण का कार्य किया।इसके साथ ही लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुए महाविद्यालय भूगोल विभाग के विद्यार्थियों मोनिका मिना,मनोज बागरे, सविता केवट, दीक्षा आदि ने भी सहायक प्राध्यापक दिनेश कुमार के ऑनलाइन आह्वाहन पर अपने घर पर वृक्षारोपण किया ।