Home Jhabua झाबुआ -अलीराजपुर जिलों के ग्रामीण क्षेत्र में तेजी से फैल रहा है...

झाबुआ -अलीराजपुर जिलों के ग्रामीण क्षेत्र में तेजी से फैल रहा है कोरोना

79
0
Demo Pic

झाबुआ -अलीराजपुर जिलों के ग्रामीण क्षेत्र में तेजी से फैल रहा है कोरोना

आरटीपीसीआर जांच ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक की जावे तथा जिला मुख्यालय पर करने की व्यवस्था करें शासन – कांतिलाल भूरिया

file photo 1

झाबुआ /राकेश पोद्दार(नगर संवाददाता ) / झाबुआ -अलीराजपुर जिले में वर्तमान में अन्य स्थानों के भांति कोरोना बिमारी का भयानक एवं तेजी से प्रभाव बढ रहा है, झाबुआ -अलीराजपुर जिले अजजा बहुल क्षेत्र है तथा यहां पर ग्रामीण जन गांवों में निवास करते है । वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोराना बिमारी का प्रभाव बढी तेजी से बढ रहा है। झाबुआ अलीराजपुर जिले में ग्रामीणों एवं आम जनता से सम्पर्क करने एवं दूरभाष से सम्पर्क करने पर यह बात संज्ञान में आई है कि ग्रामीण क्षेत्रों में बुखार एवं अन्य बिमारी तो फैल रही है साथ ही कोरोना से ग्रामीण क्षेत्रों में मोत का आकडा भी तेजी से बढ रहा है जिसकी पुष्टी ग्राम पंचायतों के मृत्यु प्रमाण पत्रों से भी की जा सकती है। शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों पर भी ध्यान दिया जाना आवश्यक है ।

उक्त जानकारी देते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता एवं प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ विक्रान्त भूरिया ने बताया कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान को पत्र लिख कर अवगत कराया है। साथ ही भूरिया ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि वर्तमान में शासन निर्देशानुसार आरटीपीसीआर की जांच कम की जा रही है तथा रैपिड एंजीन की जांच अधिक की जा रही है इस सबंध में आरटीपीसीआर जांच से ही संक्रमण पकड में आता है। अतः आरटीपीसीआर जांच तत्काल गांव गांव में कराई जावे तथा मरीजो को आवश्यक दवाई आदि निशुल्क प्रदान की जावे साथ ही झाबुआ अलीराजपुर जिले में आरटीपीसीआर ओर जांच हेतु इन्दौर अथवा अहमदाबाद भेजी जाती है जहां से रिपोर्ट आने में समय लगता है एवं संक्रमित मरीज इस बीच अनेक लोगों से मिलने से भी संक्रमण बढ रहा है अतः आरटीपीसीआर जांच जिला मुख्यालय पर की जावे जिससे रिपोर्ट शीघ्र प्राप्त हो सकें। झाबुआ अलीराजपुर जिले सहित अजजा बहुल जिलों में चिकित्सा व्यवस्था को तत्काल बढाना आवश्यक है साथ ही वहां पर पेरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति भी तत्काल की जाने हेतु अनुरोध है। जिला चिकित्सालय झाबुआ एवं अलीराजपुर में सिटीस्क्रिन की व्यवस्था नही होने से गरीब एवं अजजा वर्ग के लोगों को नीजि सेन्टरों पर सिटीस्क्रिन करवाने में आर्थिक भार उठाना पड रहा है। तत्काल सिटीस्क्रिन मशीन की व्यवस्था जिला मुख्यालयों पर की जावे।ग्रामीण क्षेत्रों में कोराना बिमारी भयावक रूप से बढ रही है जिले के पूर्व विधायक जेवीयर मेडा, कार्यवाहक कांगे्रस अध्यक्ष हेमचन्द्र डामोर, रूपसिंह डामोर , युवक कांग्रेस के आशिष भूरिया संभागीय प्रवक्ता साबिर फिटवेल,शंकर भूरिया जनपद अध्यक्ष, शहर अध्यक्ष गौरव सक्सेना, ग्रामीण अध्यक्ष बन्टू अग्निहोत्री,राजेश भटट,मानसिंह मेडा, आदी ने भी शासन से मांग की है पेरामेडिकल स्टाफ एवं स्वास्थ्य कर्मचारीयों की अधिक से अधिक भत्र्ती की जावे तथा शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में इस बिमारी पर ध्यान दिया जावे तथा प्रत्येक ग्राम में स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजी जावे तथा वे घर घर जांच करें तथा ग्रामीणों को ईलाज करे एवं उन्हे घर में रहने की समझाईस देवे जिससे इस गंभीर बिमारी पर रोक अथवा कमी की जा सकें।