Home Bhopal शेयर कारोबारी के ऑफिस में क्राइम ब्रांच भोपाल के अफसर ने सादी...

शेयर कारोबारी के ऑफिस में क्राइम ब्रांच भोपाल के अफसर ने सादी वर्दी में मारी रेड… फिर हुआ ये बड़ा खुलासा… पढ़े इस रिपोर्ट में

31
0

वॉकी टॉकी, नकली आईडी कार्ड और कार पुलिस ने की जब्त

 

उज्जैन। मक्सीरोड़ स्थित शेयर कारोबारी के ऑफिस में पहुंचकर स्वयं को क्राइम ब्रांच भोपाल का अफसर बताने वाले बदमाशों पर शंका हुई तो मैनेजर ने असली क्राइम ब्रांच वालों को फोन लगाकर बुलाया। जब असली अफसर यहां पहुंचे तो नकली अफसरों ने उन्हें भी धमकाकर बैठने के लिये कह दिया। बाद में माधव नगर थाने से पुलिस फोर्सं पहुंचा और तीनों बदमाशों को गिरफ्तार कर उनके पास से वॉकी टॉकी, नकली आईडी कार्ड सहित भोपाल की नंबर प्लेट और पुलिस लिखी कार जब्त की।

शंका हुई तो क्राइम ब्रांच को दी सूचना

अजय सिंह ने बताया कि युवकों पर शंका हुई तो उन्होंने क्राइम ब्रांच उज्जैन को सूचना दी जहां से तीन पुलिसकर्मी सादी वर्दी में एंजल ब्रोकिंग के ऑफिस पहुंचे। उन्हें युवक पहचान नहीं पाये और धमकाकर एक जगह बैठने को कह दिया। असली क्राइम ब्रांच के पुलिसकर्मी भी सकते में आ गये लेकिन युवकों के आईडी और नकली वॉकी टॉकी देखकर मामला समझ गये। माधव नगर से पुलिसकर्मियों को बुलाया और तीनों को यहीं से पकड़कर थाने ले गये।

यह था मामला

अजय सिंह पंवार पिता महेश 23 वर्ष निवासी चंदेसरा नागझिरी का नजीम कांचवाला बिल्डिंग मक्सीरोड़ पर एंजल ब्रोकिंग के नाम से ऑफिस है। अजय सिंह इसमें मैनेजर हैं। शुक्रवार दोपहर कार क्रमांक एमपी 04 सीएस 8661 से तीन युवक उनके ऑफिस पहुंचे। यहां दो युवकों ने पुलिस लिखे आईडी कार्ड निकाले और कर्मचारियों को दिखाकर कहा कि हम क्राईम ब्रांच भोपाल से आये हैं। ऑफिस में लोगों से धोखाधड़ी की शिकायत मिली है। सभी अपने-अपने मोबाइल जमा कर दो। कर्मचारियों के मोबाइल एकत्रित करने के बाद युवकों ने कहा कि मामला निपटाना है तो 25 लाख रुपये का इंतजाम कर लो वरना सभी को जेल में सड़ा देंगे।

वॉकी टॉकी से पुलिस फोर्स को बुला रहे थे

मैनेजर अजय सिंह ने बताया कि युवकों के पास वॉकी टॉकी भी थे जिस पर वह पुलिस कंट्रोल रूम से बात करते दिख रहे थे। वह कंट्रोल रूम को सूचना दे रहे थे कि पुलिस फोर्स भेज दो। यहां से बड़ी संख्या में लोगों को गिरफ्तार करने के साथ उनके वाहन भी जब्त करने हैं।

एक युवक मेडिकल संचालक, दो तराना के

पुलिस ने थाने लाकर युवकों से पूछताछ की तो उन्होंने अपने नाम आशुतोष गर्ग निवासी तराना, आशीष चावड़ा निवासी कानीपुरा, सुनील यादव निवासी सांई विहार का होना बताया। इनमें से आशुतोष मेडिकल संचालक है। युवकों से जब्त इनोवा कार क्रमांक एमपी 04 सीएस 8661 पर पुलिस लिखा है जबकि वॉकी टॉकी सहित अन्य उपकरण भी जब्त किये गये हैं। पुलिस द्वारा पकड़े गए युवकों के परिजनों और आपराधिक रिकार्डों की जांच कर रही है। अफसरों ने बताया कि इस बात का पता लगा रहे है कि युवकों ने पूर्व में और कहां-कहां अपराधों को अंजाम दिया है।