Home Crime CM ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक को थप्पड़ मारने वाले देबाशीष की...

CM ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक को थप्पड़ मारने वाले देबाशीष की संदिग्ध हालात में मौत, परिवार ने लगाया हत्या का आरोप, BJP ने की CBI जांच की मांग

64
0

साल 2015 में देवाशीष आचार्य नाम के शख्स ने सार्वजनिक मंच पर अभिषेक बनर्जी को थप्पड़ मारा था। इसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। गुरुवार सुबह कुछ अज्ञात लोगों ने गंभीर रूप से घायल देवाशीष को मिदनापुर के तमलुक जिला अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां उनकी मौत हो गई।

 

पश्चिम बंगाल इस समय हिंसा की आग से जल रहा है। लगातार चेतावनी और जनता के आक्रोश के बावजूद भी पश्चिम बंगाल में हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है।विधानसभा चुनाव 2021 के दौरान बीजेपी का समर्थन करने वाले नेता देबाशीष आचार्य (Debashish Acharya) की गुरुवार रात को संदिग्ध हालात में मौत हो गयी। परिवार ने लगाया हत्या का आरोप लगाया है। भाजपा (BJP) ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) पर देवाशीष की हत्या का आरोप लगाते हुए मामले की सीबीआइ जांच की मांग की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गुरुवार सुबह कुछ अज्ञात लोगों ने गंभीर रूप से घायल देवाशीष को मिदनापुर के तमलुक जिला अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां उनकी मौत हो गई। अस्पताल के रेकॉर्ड के अनुसार, गुरुवार सुबह 4 बजकर 10 मिनट पर कुछ लोग देवाशीष को अस्पताल लेकर आए थे और भर्ती कराकर चले गए।

दोस्तों के साथ घूमने निकले थे देवाशीष

गंभीर रूप से घायल देवाशीष की दोपहर तक मौत हो गई। सूचना पाकर परिजन और पुलिस अस्पताल पहुंचे। पुलिस को शुरुआती जांच में यह पता चला है कि 16 जून को देवाशीष अपने तीन दोस्तों के साथ बाइक पर घूमने निकले थे। सोनापेटा टोल प्लाजा के पास एक दुकान में तीनों ने चाय पी। इसी दौरान देवाशीष के पास किसी का कॉल आया और वह दोनों दोस्तों को छोड़कर चले गए। पुलिस आगे की छानबीन में जुट गई है।

पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर देवाशीष को अस्पताल में भर्ती करने वाले कौन थे? घरवालों की ओर से हत्या की साजिश का आरोप लगाया जा रहा है. कुछ बीजेपी कार्यकर्ता भी देवाशीष आचार्य की मौत पर सवाल उठाने लगे हैं. 2020 में देवाशीष आचार्य ने बीजेपी ज्वॉइन कर ली थी

गौरतलब है कि देबाशीष आचार्य सबसे पहले 2015 में उस दौरान सुर्खियों में छाए थे जब उन्होंने एक राजनीतिक कार्यक्रम में अभिषेक बनर्जी को भरी जनसभा में थप्पड़ जड़ दिया था. इस घटना के बाद अभिषेक बनर्जी की तरफ से कहा गया था कि उन्होंने इस घटना के लिए देबाशीष को माफ कर दिया था।