Home COVID-19 कोरोना संक्रमण के लेकर सरकार की नई एडवाइजरी, वेंटिलेशन और 10 मीटर...

कोरोना संक्रमण के लेकर सरकार की नई एडवाइजरी, वेंटिलेशन और 10 मीटर की दूरी पर जोर

20
0
Demo Pic

नई दिल्ली। कोरोना महामारी को लेकर केंद्र सरकार की ओर से अब नई गाइडलाइन जारी कर दी गई है। कोरोना वायरस के बदले हुए स्ट्रैन के चलते रिसर्च में अब नए-नए खुलासे हो रहे हैं, जिसके चलते वैज्ञानिकों को इसके संबंध में नई जानकारियां मिल रही है। इसके के आधार पर केंद्र सरकार भी गाइडलाइन में लगातार बदलाव कर रही है। केंद्र सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन की ओर से जारी एडवाइजरी में अब बताया गया है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति से अपने आसपास के करीब 10 मीटर के दायर में लोगों के संक्रमित होने का खतरा है, इसलिए कोरोना संक्रमित लोगों को अपने घर, ऑफिस और अन्य सार्वजनिक जगहों पर ज्यादा वेंटिलेशन होना चाहिए।

 

कोरोना वायरस का खतरा 10 मीटर दूर तक

प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन ने बताया है कि किसी कोरोना संक्रमित मरीज का स्लाइवा, ड्रॉपलेट और एयरोसॉल के रूप में कोरोना संक्रमण लगातार बाहर फैलते रहता है। ड्रॉपलेट 2 मीटर तक जाकर सतह पर बैठ जाता है, वहीं एयरोसॉल 10 मीटर तक हवा में फैल सकता है। इसलिए कोरोना संक्रमित व्यक्ति से 10 मीटर दूर रहना चाहिए।

एडवाइजरी में यह भी बताया गया है कि शहरी और ग्रामीण इलाकों में घरों, ऑफिसों और सार्वजनिक जगहों पर तेजी से वेंटिलेशन सुनिश्चित करने की जरूरत है। घरों, ऑफिसों और सेंट्रलाइज्ड बिल्डिंग में पंखे लगाकर, खिड़कियां-दरवाजे खोलकर वायु का प्रवाह बढ़ाने की सलाह दी गई है।

 

हवादार घर या ऑफिस से कम होगा कोरोना का खतरा

प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार ने चेताया है कि किसी संक्रमित शख्स के हंसने, बोलने, खांसने आदि से जो ड्रॉपलेट या एयरोसोल निकलता है, वह वायरस के फैलने का मुख्य कारण होता है। किसी जगह पर हवा का सर्कुलेशन बढ़ने से वहां पर आ रही गंध खत्म हो जाती है, उसी तरीके से किसी जगह पर वेंटिलेशन बढ़ाने से वहां कोरोना फैलने का खतरा कम हो जाता है।