Home Dharm Rashi Parivartan 2022 : धनु राशि में मंगल का गोचर करेगा मंगल...

Rashi Parivartan 2022 : धनु राशि में मंगल का गोचर करेगा मंगल ही मंगल, किसी को मिलेगा फंसा हुआ धन, किसी को जमीन जायदाद में लाभ

4
0

मंगल पौष शुक्ल पक्ष त्रयोदशी 15, 16 जनवरी 2022 दिन शनिवार, रविवार की रात 12:55 बजे से देवगुरू बृहस्पति की राशि धनु में प्रवेश करेंगे जहां– फाल्गुन कृष्ण पक्ष नवमी 25 फरवरी दिन शुक्रवार को शाम 6 बजकर 45 मिनट तक रहेंगे। ग्रहों में मंगल को सेनापति का पद प्राप्त है। मंगल को भूमि, भवन, वाहन ,सेना ,सेनाध्यक्ष, पुलिस बल, सम्पूर्ण रक्षा तंत्र, आग, बल, पौरुष एवं ऊर्जा का कारक ग्रह माना गया है। ऐसे में इनके राशि परिवर्तन का सभी कारक तत्वों पर प्रभाव पड़ेगा। यहां जानें लग्न के अनुसार किन राशियों वालों के लिए नए साल में क्या लेकर आ रहा है मंगल का यह राशि परिवर्तन:

Rashifal : 9 जनवरी को सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य, पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक का हाल

मेष :- लग्नेश-अष्टमेश होकर नवम भाव में। 
         *मनोबल,धार्मिकता एवं भाग्य में वृद्धि 
         *पराक्रम एवं नेतृत्व क्षमता में 
         *भाई बहनों मित्रों का सहयोग सानिध्य
         *अचानक व्यापारिक या धार्मिक यात्रा के संयोग
         *गृह एवं वाहन सुख एवं खर्च में वृद्धि
         *जमीन जायदाद से जुड़े कार्यो में लाभ
उपाय :- मूंगा रत्न धारण करना लाभदायक होगा।

29 साल बाद बन रही है सूर्य- शनि की युति, मेष से लेकर मीन तक वाले होंगे प्रभावित, ज्योतिषाचार्य से जानें अपनी राशि का हाल

वृष  :- सप्तमेश- व्ययेश होकर अष्टम भाव में। 
         *आर्थिक गतिविधियों में अच्छी प्रगति
         *अचानक रुका धन मिलने का योग
         *पारिवारिक कार्यो पर खर्च, घर मे नया कार्य
         *भाई बहनों मित्रो पर भी खर्च की स्थिति
         *साझेदारी, प्रेम संबंधों को लेकर तनाव 
         *जीवन साथी के स्वास्थ्य पर खर्च या चिन्ता
उपाय :- श्री हनुमानजी महाराज का दर्शन लाभ प्रदायक होगा।

मिथुन :- आयेश-रोगेश होकर सप्तम भाव में। 
         *नयी साझेदारी से आर्थिक लाभ की स्थिति
         *क्रोध में तीव्रता अतः नियंत्रण रखें
         *परिश्रम एवं सम्मान को लेकर चिन्ता सम्भव
         *वाणी में अचानक तीव्रता ,घर मे नया कार्य
         *दाम्पत्य जीवन को लेकर थोड़ा उलझन संभव
         *स्वास्थ्य एवं मानसिक स्तर पर थोड़ी चिंता संभव
उपाय :- लाल मसूर की दाल मंगलवार को गाय को खिलाएं।

कर्क :- राज्येश-पंचमेश होकर षष्ट भाव में। 
         *भाग्य का सकारात्मक साथ प्राप्त होगा।
         *पढ़ाई एवं सम्मान पर अचानक तनाव संभव
         *संतान एवं पिता पक्ष से थोड़ी चिन्ता
         *प्रतियोगिता में विजय की स्थिति सकारात्मक
         *परिश्रम एवं पढ़ाई को लेकर ज्यादा प्रयास 
         *क्रोध पर नियंत्रण एवं गलतफहमी से दूरी रखे
उपाय :- मूंगा रत्न मूल कुंडली के अनुसार धारण करें।

सिंह :- भाग्येश-सुखेश होकर पंचम भाव में। 
         *आय एवं लाभ में वृद्धि की संभावना ठीक
         *व्यापारिक विस्तार पर खर्च के भी योग बनेंगे 
         *स्वास्थ्य विशेषकर पेट का ध्यान रखें।
         *संतान एवं पिता के सहयोग ,सानिध्य में वृद्धि।
         *गृह एवं वाहन सुख के साथ घरेलू सुखों में वृद्धि 
         *बौधिकता के आधार पर सम्मान की प्राप्ति
उपाय :- मूंगा रत्न मूल कुंडली के अनुसार धारण करें।

कन्या :- अष्टमेश-पराक्रमेश होकर चतुर्थ भाव में। 
         *आय एवं लाभ के साधनों में वृद्धि के संयोग।
         *क्रोध में अधिकता अतः नियंत्रण रखें।
         *जमीन जायदाद,सम्पत्ति को लेकर तनाव
         *माता के स्वास्थ्य को लेकर चिंता की स्थिति
         *जीवनसाथी एवं प्रेम संबंधों को लेकर चिन्ता
         *परिश्रम में एवं सम्मान में सामान्य अवरोध संभव
उपाय :- श्री हनुमानजी जी महाराज को सिंदूर मंगलवार को चढ़ाए।

तुला  :- सप्तमेश-धनेश होकर पराक्रम भाव में। 
         *पराक्रम एवं सम्मान में वृद्धि
         *प्रतियोगिता में विजय, रोग एवं शत्रु पराजित
         *पिता एवं भाग्य का साथ प्राप्त होगा
         *दाम्पत्य जीवन एवं प्रेम संबंध के लिए समय ठीक
         *नयी साझेदारी एवं अचानक धन लाभ की स्थिति
         *अचानक क्रोध में वृद्धि अतः नियंत्रण रखें।
उपाय :- श्री हनुमानजी का दर्शन करते रहें।

वृश्चिक :- लग्नेश- रोगेश होकर धन भाव में। 
         *धन एवं धनागम के साधनों में वृद्धि
         *संतान एवं पिता पक्ष से सुसमाचार की स्थिति
         *अध्ययन, अध्यापन एवं डिग्री के लिए समय ठीक
         *कार्यो एवं परिश्रम में भाग्य का साथ प्राप्त होगा
         *खान पान पर ध्यान रखना आवश्यक।
         *मनोबल अच्छा एवं घरेलू कार्यो में वृद्धि
उपाय :- भगवान भोलेनाथ का दर्शन एवं पूजन करें।

धनु  :- पंचमेश- व्ययेश होकर लग्न भाव में। 
         *संतान पक्ष से सुसमाचार मिल सकता है।
         *अचानक क्रोध में वृद्धि से कार्यो में अवरोध
         *जमीन,जायदाद,अचल संपत्ति को लेकर चिन्ता
         *दाम्पत्य जीवन एवं प्रेम संबंध में तनाव या विवाद
         *स्वास्थ्य विशेषकर पेट की समस्या से खर्च वृद्धि
         *रोजगार,साझेदारी एवं माता के स्वास्थ्य से चिंता
उपाय :- श्री हनुमानजी महाराज को सिंदूर मंगलवार को चढ़ाये।

मकर :- चतुर्थेश- लाभेश होकर व्यय भाव में। 
       *गृह, वाहन एवं घरेलू कार्यो पर खर्च 
       *व्यापारिक एवं अन्य यात्रा की भी संभावना
       *क्रोध, पराक्रम एवं सम्मान में वृद्धि
       *भाई , बन्धु एवं मित्रों के सहयोग सानिध्य में वृद्धि
       *प्रतियोगिता में विजय,पुराने रोग एवं शत्रु से मुक्ति
       *क्रोध के कारण जीवन साथ एवं प्रेम संबंध में तनाव
उपाय :- मंगलवार के दिन शहद शिवलिंग पर चढ़ाएं।

कुम्भ :- पराक्रमेश- राज्येश होकर लाभ भाव में। 
         *आय एवं आय के साधनों में वृद्धि सम्भव
         *अध्ययन, अध्यापन से जुड़े लोगों को होगा लाभ
         *आर्थिक गतिविधियों एवं वाणी व्यवसाय में प्रगति
         *रोग, कर्ज, शत्रुओं पर एवं प्रतियोगिता में विजय 
         *पैतृक संपत्ति से जुड़े विवाद दूर होंगे 
         *व्यापारिक विस्तार,पराक्रम, सम्मान में वृद्धि
उपाय :- श्री हनुमानजी का दर्शन करते रहें।

मीन :- धनेश- भाग्येश होकर राज्य भाव में। 
         *राज्य से लाभ, सम्मान में वृद्धि
         *कार्यो में प्रगति एवं परिश्रम में वृद्धि
         *गृह एवं वाहन सहित घरेलू सुखों में प्रगति, 
         *क्रोध में वृद्धि, कार्यो में भाग्य का साथ प्राप्त होगा
         *अध्ययन, अध्यापन से जुड़े लोगों को लाभ होगा
         *संतान एवं पिता पक्ष से सुसमाचार मिल सकता
उपाय :- मूँगा रत्न मूल कुंडली के अनुसार धारण करें।