Home Dharm Mahashivratri Vrat 2022 : शिव योग में कल को मनाई जाएगी महाशिवरात्रि,...

Mahashivratri Vrat 2022 : शिव योग में कल को मनाई जाएगी महाशिवरात्रि, ज्योतिषाचार्य से जानें शिव कृपा प्राप्त करने के आसान उपाय

12
0

Mahashivratri Vrat 2022 :  फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा। मान्यता है कि इसी दिन शिव और पार्वती का विवाह हुआ था। यह तिथि इस वर्ष एक मार्च मंगलवार को पड़ रहा है। शिवरात्रि की तैयारियां अब अंतिम चरण में हैं। शिवालयों व अन्य मंदिरों को रंग रोगन व साज-सज्जा की जा रही है। मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया जा रहा है। कहीं पंडाल बन रहे हैं तो कहीं तोरणद्वार तो कहीं शिव की बारात निकालने की तैयारी चल रही है।

ज्योतिषाचार्य पंडित रमेशचंद्र त्रिपाठी बताते हैं कि फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी और चतुदर्शी की संधि को ही शिवरात्रि कहते हैं। शास्त्रों के अनुसार इस दिन शिव की पूजा विशेष फलदायी होती हैं। इस दिन शिवलिंग पर आठों प्रहर जल अपर्ण कर शिव की कृपा प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस वर्ष चारों प्रहर की पूजा करने वाले को रोग और भय से मुक्ति व श्री की प्राप्ति होगी। ब्रह्म मुहुर्त में चतुर्दशी का प्रवेश हो रहा है। एक मार्च मंगलवार को प्रात: 4.16 बजे से लेकर अगले दिन दो मार्च के 4.16 बजे तक महादेव की पूजा आराधना की जा सकेगी।

इन तारीखों में जन्मे लोग एक माह तक रहेंगे मौज में, 31 मार्च तक का समय वरदान के समान

बिल्व पत्र चढ़ाएं और करें जलाभिषेक

पंडित रमेशचंद्र बताते है कि शिव को प्रसन्न करने के लिए शिवलिंग पर बिल्व पत्र अवश्य चढ़ाएं और महादेव को जलाभिषेक करें। जल की धारा शिव को अतिप्रिय है। मध्यरात्रि में शिव-पार्वती का विवाह होगा। बताते हैं कि इस दिन कन्या उत्तम वर और सुखमय वैवाहिक जीवन के लिए तो वहीं विवाहिता सौभाग्य की कामना के लिए यह व्रत करती हैं। वहीं पुरुषों को शिव की भक्ति प्राप्त करने के लिए यह व्रत अवश्य करनी चाहिए।