Home Dharm Mahashivratri : महाशिवरात्रि पर बन रहा है ग्रहों का विशेष योग, ज्योतिषाचार्य...

Mahashivratri : महाशिवरात्रि पर बन रहा है ग्रहों का विशेष योग, ज्योतिषाचार्य से जानें महत्व, पूजा का शुभ मुहूर्त

3
0

देवाधिदेव महादेव एवं मां पार्वती के मिलन के उत्सव महाशिवरात्रि पर इस बार ग्रहों का विशेष योग बन रहा है, जो भक्तों के लिए विशेष पुण्यदायी होगा। इस बार महाशिवरात्रि पर्व पर पांच ग्रहों का महासंयोग बन रहा है। इस शुभ संयोग और शुभ मुहूर्त में जो भी भक्त विधि विधान से भोले भंडारी की पूजा आराधना करेगा उसकी मनोकामना पूरी होगी।

यह कहना है मॉरीशस में सनातन धर्म की धर्म ध्वजा लहरा रहे ज्योतिषाचार्य आचार्य राकेश पांडेय का। उनके अनुसार इस बार महाशिवरात्रि पर्व को पंचग्रही योग खास बना रहा है। इस मौके पर 12वें भाव में मकर राशि में पंचग्रही योग बनेगा। इस राशि में मंगल और शनि साथ बुध, शुक्र और चंद्रमा रहेंगे। लग्न में कुंभ राशि में सूर्य और गुरु की युति बनी रहेगी। चौथे भाव में राहु वृषभ राशि में रहेगा, जबकि केतु दसवें भाव में वृश्चिक राशि में रहेगा। धनिष्ठा नक्षत्र में परिघ योग रहेगा। धनिष्ठा के बाद शतभिषा नक्षत्र रहेगा। परिघ के बाद शिवयोग रहेगा। यह पंच ग्रही योग विशेष फल देना वाला है। इस दिन जो भी भक्त देवों के देव महादेव की भक्ति में तल्लीन होकर उनकी पूजा करते हैं, भगवान शिव उनकी हर मनोकामना पूरी करते हैं।

शनि, मंगल, बुध एक ही राशि में, देखें ग्रहों की इस युति से किसे होगा फायदा- नुकसान, पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक

महाशिवरात्रि का समय: आचार्य राकेश पांडेय के मुताबिक महाशिवरात्रि एक मार्च को सुबह 03.16 बजे से शुरू होकर बुधवार दो मार्च की सुबह 10 बजे तक रहेगी। रात्रि में शिवजी के पूजन का शुभ समय शाम 06.22 बजे से शुरू होकर रात्रि 12.33 बजे तक रहेगा। उन्होंने कहा कि महाशिवरात्रि के दिन चाहे कोई भी समय हो भगवान शिवजी की आराधना करना चाहिए।