Home Dharm Dev Uthani Ekadashi 2021: देवोत्थान एकादशी आज, मांगलिक कार्यों संग गूंजेगा बैंड-बाजा,...

Dev Uthani Ekadashi 2021: देवोत्थान एकादशी आज, मांगलिक कार्यों संग गूंजेगा बैंड-बाजा, नोट कर लें फरवरी तक विवाह मुहूर्त

52
0

चार माह के शयन के बाद भगवान हरि देवोत्थान एकादशी पर जागृत हो जाएंगे। 15 नवंबर को श्रद्धा, उल्लास से देवोत्थान एकादशी मनाई जाएगी। इसी के साथ मांगलिक कार्यों का शुभारंभ होगा। शहनाइयों की गूंज होगी। नवंबर व दिसंबर में 12 दिन के शुभ मुहूर्त में शादियों के चलते होटल, गेस्ट हाउस सब बुक हो चुके हैं।

15 नवंबर के बाद सहालग शुरू हो रहा है। पिछले साल अप्रैल में लॉकडाउन लगा तो शादियां टाल दी गईं। इस साल गर्मियों में कोरोना की दूसरी लहर ने कहर बरपाया तो लोगों ने शादियां टालीं। तीन सत्र में रुकी शादियां भी नवंबर के दूसरे पखवाड़े से शुरू हो रही हैं। इसलिए सहालग से जुड़े कारोबार में रौनक बढ़ गई है।

 देवउठनी एकादशी आज, जानिए देव थान कैसे रखे जाते हैं और व्रत में क्या खाना चाहिए

शादी के शुभ मुहूर्त

नवंबर : 19, 20, 21, 26, 28 और 29 तारीख।

दिसंबर : 1, 2, 5, 7, 12 और 13 तारीख।

जनवरी 2022 15, 20, 22, 23, 25, 27, 28, 29 और 30 तारीख।

फरवरी 2022 : 5, 6, 9, 10, 16,17, 18 और 19 तारीख।

तीन हजार रुपये तक डीजे के दाम में हुआ इजाफा

कोरोना और सरकारी रोक से झटका खाए डीजे की इस साल सहालग में जबर्दस्त मांग है। लगन के लिए शहर के सभी डीजे की बुकिंग हो चुकी है। पिछले साल की तुलना में इस साल डीजे कम से कम तीन हजार रुपये महंगा हुआ है। डीजे संचालक शुभम ने बताया कि महंगाई का कारण लेबर चार्ज बढ़ना है।

ढूंढे नहीं मिल रही घोड़ी-बग्घी

इस बार शादियों की सभी तारीखों पर घोड़ी और बग्घी बुक हो चुके हैं। नखासकोहना के बग्घी संचालक पप्पू ने बताया कि घोड़ी 800 से एक हजार और बग्घी 1800 से ढाई हजार में बुक हुई है।

देवउठनी एकादशी के इस दिन क्यों नहीं खाए जाते चावल, पढ़िए व्रत नियम

शादियों में मेकअप कराने के लिए बुक होने लगे पार्लर

शादियों में मेकअप के लिए पॉर्लर बुक होने लगे हैं। पार्लरों में अधिकतर बुकिंग 18 नवंबर से है। सिविल लाइंस की ब्यूटी पार्लर संचालिका सावी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में इसबार अधिक शादियां हो रही हैं। लोग बुकिंग के लिए आ रहे हैं। सावी के अनुसार मेकअप की किट्स महंगी हुई है, लेकिन ग्राहकों पर इसका असर नहीं पड़ेगा। फिर भी न्यूनतम मेकअप पर 15 हजार रुपये खर्च करना पड़ेगा।

गहनों का बाजार भी चमका स्लिम ज्वेलरी की मांग ज्यादा

पिछले दो साल से भारी-भरकम ज्वेलरी की मांग बहुत कम हो गई है। महिलाएं अधिक स्लिम ज्वेलरी अधिक पसंद कर रही हैं। सराफा कारोबारी दिनेश सिंह ने बताया कि इस साल भी सहालग में स्लिम झुमके, चेन, पायल, मांग टीका की मांग अधिक है। दिनेश के अनुसार ज्यादातर लोगों ने दिवाली पर ही सहालग के गहने खरीद लिए हैं। फिर भी लोग ज्वेलरी खरीदारी करने आ रहे हैं।

होटलों में 80 फीसदी से अधिक बुकिंग

18 नवंबर के बाद शहर के लगभग सभी छोटे-बड़े होटल और गेस्ट हाउस शादियों के लिए बुक हो गए हैं। कोरोना से उबरने के बाद इस बार होटलों का रेट नहीं बढ़ा है। होटल ईलावर्त के प्रबंधक डीपी सिंह ने बताया कि शादियों के लिए इस बार बुकिंग अच्छी है। होटल यशपदम के संचालक योगेश गोयल ने बताया कि शादियों के समय 80 फीसदी ऑक्यूपेंसी है। यह 100 फीसदी तक पहुंच सकती है। बारात घर भी पहले से बुक हो चुके हैं।

देवउठनी एकादशी पर जरूर करें इस व्रत कथा का पाठ, मोक्ष प्राप्ति की है मान्यता

पांच हजार करोड़ के करोबार का अनुमान

सर्दी में ढाई हजार से अधिक शादियों का अनुमान लगाया जा रहा है। शादियां अधिक होने के कारण इस बार पांच हजार करोड़ से अधिक का कारोबार होने का अनुमान है। कारोबारी कहते हैं कि ज्वेलरी, साड़ियां, लहंगे-चुन्नी, रेडीमेड गारमेंट्स, कपड़े, फुटवियर, ड्राई फ्रूट, मिठाइयां, फल, पूजा का सामान, किराना, खाद्यान, डेकोरेशन के आइटम, होटल, सजावट आदि का कारोबार बढ़ेगा। असल में महंगाई से राशि या बजट बढ़ रहा है।