Home Dharm 30 अक्टूबर को सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य, पढ़ें...

30 अक्टूबर को सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य, पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक का हाल

57
0

Horoscope Rashifal Tomorrow 30 october 2021 : वैदिक ज्योतिष शास्त्र में कुल 12 राशियों का वर्णन किया गया है। हर राशि का स्वामी ग्रह होता है। ग्रह-नक्षत्रों की चाल से राशिफल का आकंलन किया जाता है। 25 अक्टूबर को सोमवार है। प. राघवेंद्र शर्मा से जानिए 30 अक्टूबर, 2021 को किन राशि वालों को होगा लाभ और किन राशि वालों को रहना होगा सावधान। पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक का हाल…

मेष राशि- मन में आशा-निराशा के भाव रहेंगे। नौकरी में अफसरों से व्यर्थ के वाद-विवाद से बचें। कार्यक्षेत्र में बदलाव के योग बन रहे हैं। स्वभाव में चिड़चिड़ापन रहेगा। भाई-बहनों के सहयोग से कारोबार में वृद्धि हो सकती है। लाभ के अवसर मिलेंगे। माता से धन की प्राप्‍ति‍ होने की उम्‍मीद है। 

वृष राशि- नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं। उच्चपद की प्राप्ति‍ हो सकती है। कार्यक्षेत्र में वृद्धि होगी। परन्तु किसी दूसरे स्थान पर जा सकते हैं। किसी प्रतियोगी परीक्षा एवं साक्षात्‍कार आदि कार्यों में सफलता मिलेगी। शासन सत्‍ता का सहयोग मिलेगा। आय में वृद्धि होगी।

चतुष्ग्रही योग में दिवाली का पर्व, जानें खरीदारी और पूजन का शुभ मुहूर्त

मिथुन राशि- मन प्रसन्न रहेगा। नौकरी में आय में वृद्धि होगी। धन की स्थिति में सुधार होगा। परन्तु खर्चों की अधिकता भी रहेगी। जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। बातचीत में संयत रहें। माता का साथ मिलेगा। भाइयों के सहयोग से कारोबार में लाभ के अवसर म‍िलेंगे।

कर्क राशि- मानसिक शान्ति‍ रहेगी। आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे। परिवार में सुख-शान्ति‍ रहेगी। कारोबार में तरक्की होगी। किसी पैतृक सम्पत्‍ति से धन की प्राप्‍ति हो सकती है। मित्र के सहयोग से नौकरी के अवसर मिल सकते हैं। आय बढ़ोतरी होगी। धार्म‍िक यात्रा पर जाना हो सकता है।

सिंह राशि- मन परेशान रहेगा। नौकरी में स्थान परिवर्तन हो सकता है। परिवार से अलग रहना पड़ सकता है। मित्रों का सहयोग मिलेगा। आत्मसंयत रहे। क्रोध एवं आवेश के अतिरेक से बचें। जीवनसाथी को स्वास्थ्‍य विकार हो सकते हैं। चिकित्सीय खर्च बढ़ सकते हैं। क्रोध की त्रीवता में कमी आएगी। 

Narak Chaturdashi 2021: क्यों मनाई जाती है नरक चतुर्दशी, यहां जानें वजह

कन्या राशि- मानसिक शान्ति‍ तो रहेगी परन्तु फिर भी आत्मसंयत रहें। बातचीत में सन्तुलित रहें। नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं।  धैर्यशीलता में वृद्धि होगी। माता से धन प्राप्‍ति के योग बन रहे हैं। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। माता के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर कुछ च‍िंता रहेंगी। 

तुला राशि- संयत रहें। मानसिक शान्ति‍ के लिए प्रयास करें। परिवार का साथ मिलेगा। मित्रों का सहयोग भी मिलेगा। दाम्पत्य सुख में वृद्धि होगी। सन्तान सुख में बढ़ोतरी की उम्‍मीद है। पिता का सानिध्य मिलेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। शैक्ष‍िक कार्यों में व्‍यवधान आ सकते हैं।

वृश्चिक राशि- मन में निराशा एवं असन्तोष रहेगा। कारोबार के विस्तार में भाई-बहनों का सहयोग मिल सकता है। लाभ में वृद्धि होगी। मन में नकारात्‍मक व‍िचारों का प्रभाव हेा सकता है। जीवनसाथी को स्‍वास्‍थ्‍य विकार हो सकती है। रहन-सहन कष्‍टमयी हो सकता है। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं।

धनु राशि- मन अशान्त रहेगा। धैर्यशीलता में कमी रहेगी। वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। पिता का सहयोग मिलेगा। आशा-निराशा के मिश्रित भाव मन में रहेंगे। क्रोध एवं आवेश के अतिरेक से बचें। पर‍िवार से दूर जाना हो सकता है। लंबे समय से रुके हुए कार्य पूरे होंगे। सुखद समाचार म‍िलेगा।

Diwali : दिवाली पर कर लें ये छोटा सा उपाय, बन जाएंगे धनवान, मां लक्ष्मी की बरसने लगेगी कृपा

मकर राशि- आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे। भवन सुख में वृद्धि हो सकती है। पिता से धन की प्राप्ति‍ के योग बन रहे हैं। परिवार में सुख-शान्ति‍ रहेगी। अपनी भावनाओं को वश में रखें। किसी धार्मिक स्‍थान की यात्रा पर जा सकते हैं। क‍िसी पुराने म‍ित्र से भेंट हो सकती है।

कुंभ राशि- घर-परिवार में धार्मिक एवं मांगलिक कार्य हो सकते हैं। भवन के रख-रखाव और साज-सज्जा के कार्यों पर खर्च बढ़ेंगे। स्वास्थ का ध्यान रखें। मानसिक शान्ति रहेगी। घर-परिवार में धार्मिक कार्य होंगे। वस्त्र उपहार में प्राप्त हो सकते हैं। कार्यक्षेत्र में परिश्रम अधिक रहेगा। 

Numerology Prediction 30 October : इन तारीखों में जन्मे लोगों के लिए शुभ रहेगा शनिवार का दिन, पढ़ें दैनिक अंकराशि भविष्यफल

मीन राशि- मन में आशा-निराशा के भाव रहेंगे। शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। परिवार का साथ मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। नौकरी में अफसरों का सहयोग मिलेगा। तरक्‍की के मार्ग प्रशस्‍त होंगे। कार्यक्षेत्र में परिवर्तन हो सकता है। खर्चों में वृद्धि होगी। लाभ के नए अवसरों की प्राप्‍त‍ि होगी।