Home Dharm हाथ में इस ग्रह के योग से सन्यासी हो जाते हैं लोग

हाथ में इस ग्रह के योग से सन्यासी हो जाते हैं लोग

137
0

हस्तरेखा में शुक्र पर्वत को बहुत ही प्रभावी और महत्वपूर्ण माना गया है। वैवाहिक जीवन से लेकर सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य में शुक्र बहुत प्रभाव डालता है। शुक्र का हाथ में अच्छी स्थिति में होना जातक के व्यक्तित्व को भी प्रभावित करता है। हस्तरेखा विज्ञान के अनुसार जिन लोगों के हाथों में शुक्र पर्वत अच्छी तरह से विकसित और सुंदर स्थिति में होता है वे आकर्षक व्यक्तित्व, साहसी और ऐश्यर्वपूर्ण जीवन जीने वाले होते हैं। कम विकसित शुक्र पर्वत व्यक्ति को दब्बू प्रवृत्ति का बना देता है। लेकिन यदि शुक्र पर्वत अत्यधिक विकसित हो जाए तो यह व्यक्ति को भोगी प्रवृत्ति का बना देता है। ऐसे जातक विपरीत लिंग के प्रति अत्यधिक लालायित रहते हैं। 

नवंबर-दिसंबर में 15 दिन बजेगा बैंड, कर लें तैयारी

इसके विपरीत हाथ में शुक्र पर्वत की गैर मौजूदगी की स्थिति भी बन सकती है। हस्तरेखा विज्ञान के अनुसार यदि हाथ में शुक्र पर्वत मौजूद नहीं हैं तो यह स्थिति व्यक्ति को वैराग्य की ओर ले जाती है। इस तरह की स्थिति में जातक साधु और सन्यासी हो जाते हैं अथवा इनके जैसा जीवन व्यतीत करते हैं। इन लोगों की गृहस्थी में कोई रुचि नहीं होती। ये सांसारिक मोहमाया से दूर चले जाते हैं। दूसरी ओर, यदि शुक्र पर्वत अच्छी तरह से विकसित है, लेकिन मस्तिक रेखा असंतुलित हो तो ऐसे लोग प्रेम अथवा कामुकता के चलते बदनामी पाते हैं।  
 (इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)